Airtel Trial 5G Network

Airtel Trial 5G Network एयरटेल ने किया 5G नेटवर्क का ट्रायल शुरू

5G Network


देश की दूसरी सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी Airtel ने गुरुग्राम में हुए अपने 5G Network के ट्रायल में 1GB/ सेकंड की स्पीड हासिल की हैं, कंपनी का दावा है की एक मिनट से भी कम समय में फुल HD मूवी डाउनलोड हो जाएगी |

यह भी पढ़े: 5G Technology Smartphones Launched in INDIA

पिछले साल से देश में 5G Network को लांच करने की चर्चा जोर शोर से हो रही है। देश में 5G Network लाने के लिए बहुत सी टेलीकॉम कम्पनीज काम कर रही हैं उनमे से एक भारती एयरटेल और टेक्नोलॉजी कंपनी एरिक्सन ने सोमवार को गुरुग्राम के साइबर हब में कंपनी के 5G नेटवर्क ट्रायल किया। रिपोर्ट के अनुसार, 5G Network पर 1GB/ सेकंड की स्पीड देखी गई।

ट्रायल में हो रहा है ट्राय के नियमों का पालन

भारती एयरटेल और एरिक्सन ने गुरुग्राम के साइबर हब में भारती एयरटेल के लाइव 5जी ट्रायल नेटवर्क पर 1GB/सेकंड हासिल की है। एयरटेल ने साइबर हब में अपने 5G Network की शुरुआत की और टेलीकॉम के नियमों के मुताबिक ट्रायल की जगह पर 3500 मेगाहर्ट्ज रेडियो स्पेक्ट्रम बैंड का प्रयोग किया जा रहा है।

देश में स्पीड के साथ 5G Network इंटरनेट नेटवर्क सर्विस 5G अगले साल से देश में मिलनी शुरू हो जाएगी। सरकार ने देश में पांचवी जेनरेशन की टेलीकॉम सर्विस (5G) अगले साल के शुरुआती महीनों में शुरू करने की उम्मीद जताई है।

4 मई 2021 को स्पेक्ट्रम कंपनियों को मिली थी मंजूरी

दूरसंचार विभाग ने बीते 4 मई को 5G टेस्ट के लिए स्पेक्ट्रम कंपनियों के एप्लीकेशन को मंजूरी दी थी, हालांकि इसमें कोई भी कंपनी चीनी टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल नहीं करेगी। दूरसंचार विभाग ने रिलायंस जियो, भारती एयरटेल, वोडाफोन और MTNL के एप्लीकेशन को मंजूरी दी गई है। इसके अलावा, 5G Network ट्रायल के लिए अप्रूव्ड दूरसंचार गियर मैन्युफैक्चरिंग की लिस्ट में एरिक्सन, नोकिया, सैमसंग, C- डॉट और रिलायंस जियो शामिल हैं। इनमें रिलायंस जियो भारत में विकसित टेक्नोलॉजी है।

4G से 20 गुना तेज मिलेगी 5G Network की स्पीड

5G Network बेहद हाईटेक टेक्नोलॉजी है, जो बहुत तेज वायरलेस नेटवर्क देती है। फुल HD फिल्म कुछ ही सेकेंड में डाउनलोड हो जाएगी। हालांकि इसका इस्तेमाल महज वीडियो देखने से कहीं से ज्यादा बड़ा है।
5G की मदद से ड्राइवरलेस ट्रांसपोर्ट, स्मार्ट सिटीज, वर्चुअल रियलिटी और बहुत तेज इंटरनेट मिलेगा।
5G टेक्नोलॉजी आने से आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस काफी बेहतर हो जाएगा और इससे तमाम मशीनें जैसे स्मार्ट TV, वाशिंग मशीन, होम स्पीकर और रोबोट्स काफी तेज और ऑटोमेटिक फीचर्स से लैस होंगे।

5G की स्पीड से मिलेंगी नौकरियां:

1.5 लाख से ज्यादा लोगों को 5G देगा रोजगार, 2022 से इससे क्या-क्या बदल जाएगा

2020 में कोरोना महामारी आने से बहुत कुछ बदल गया। कोर्ट में वर्चुअल सुनवाई, ऑनलाइन खरीदारी, ऑनलाइन क्लासेज, डॉक्टर की ऑनलाइन सलाह और टेलीमेडिसिन का इस्तेमाल अचानक बढ़ गया। लोगों को ज्यादा तेज इंटरनेट की जरूरत महसूस होने लगी। टेलिकॉम कंपनियों ने देश में 5G टेक्नोलॉजी की इस तलब को भांप लिया और यही वजह है कि पिछले कुछ महीने से 5G Network से जुड़ी नौकरियां तेजी से बढ़ रही हैं।
डेटा एनालिटिक्स कंपनी ग्लोबल डेटा के मुताबिक भारत में 5G से जुड़ी वैकेंसी अक्टूबर-दिसंबर 2020 के मुकाबले जनवरी-मार्च 2021 में दोगुना हो गईं। एक्सपर्ट्स का कहना है कि आने वाले महीनों में हायरिंग बढ़ सकती हैं, क्योंकि 5जी के आने से कई सेक्टर प्रभावित होंगे। 5G सेवाओं से न सिर्फ इंटरनेट स्पीड में इजाफा होगा, बल्कि अगले दो साल तक बंपर नौकरियां भी मिलेंगी।

इंजीनियरिंग और सॉफ्टवेयर स्किल्स की ज्यादा डिमांड रहेगी

टैलेंट सॉल्यूशन कंपनी Xpheno की रिपोर्ट के मुताबिक भारत में 5G Network शुरू करने के लिए जल्द ही 1.5 लाख से ज्यादा लोगों की जरूरत पड़ेगी। एक्सपर्ट्स का कहना है कि IP नेटवर्किंग, फर्मवेयर, ऑटोमेशन, मशीन लर्निंग, बिग डेटा एक्सपर्ट, साइबर सिक्योरिटी एक्सपर्ट, इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियर्स की डिमांड बढ़ेगी। ज्यादातर भर्तियां टेलिकॉम और IoT कंपनियां करेंगी।

यह भी पढ़े: How To Start A Blog In Hindi? ब्लॉग कैसे शुरू करे!

Leave a Reply

Your email address will not be published.